Happy New Year Poem in Hindi | नव वर्ष कविता इन हिंदी

हेलो दोस्तों HindiSource .Com में आपका स्वागत है। दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आये है नाये साल  के उपलक्ष में नव वर्ष पर कविता। दोस्तों मै उम्मीद करता हूँ की आपको ये कविता काफी पसंद आएगी और आपके दिल को छू लेगी। जिसे आप अपने दोस्तों को भेज सकते है।

New Year Kavita

ये भी पड़े।

आया नव वर्ष, आया आपके द्वार
दे रहा है ये दस्तक बार-बार,
बीते बरस की बातों को, दे बिसार
लेकर आया है ये खुशियां और प्यार,
खुली बांहो से स्वागत कर, इसका यार
और मान अपने ईश्वर का आभार।
अपने घर, समाज और देश से करे प्यार,
हम सब एक हैं ये दुनिया को बता दे यार,
 अनसुलझी जो रही पहेली,
अब शायद उसका भी हल हो.
 जो चलता हैं वक्त देखकर,
आगे जाकर वही सफल हो.
 नये वर्ष का उगता सूरज,
सबके लिए सुनहरा पल हो.
 सुख के चरण पड़े हर द्वारे,
सुखमय आँगन का हर पल हो..
 अवनी से अंबर तक छाया नववर्ष।
सिन्दूरी भोर लिए आया नववर्ष।।
तैरते हवाओं में पंछी रंगीन।
ले आए प्राची से उजियारे दिन।
झरनों ने भैरवी में गाया नववर्ष।
सिन्दूरी भोर लिए आया नववर्ष।।
मधु किरणें पूरब से आई छुम-छुम।
घोल गई रेवा के जल में कुमकुम।।
सुखद रात सुप्रभात लाया नववर्ष।
सिन्दूरी भोर लिए आया नववर्ष।।
शाखों पर फूल नए चमकीली पातें।
बांट रहा स्नेहिल सूरज सौगातें।।
अलसायी धूप खिली भाया नववर्ष।
सिन्दूरी भोर लिए आया नववर्ष।।
 फिर आया है नया साल
सर्द रातों की एक हवा जागी
और बर्फ़ की चादर ओढ़
सुबह के दरवाज़े पर दस्तक दी उसने
उनींदी आँखों से सुबह की अंगड़ाई में भीगी ज़मीन से ज्यों फूटा
एक नया कोपल
नए जीवन और नई उमंग
नई खुशियों के संग
दफ़ना कर कई काली रातों को
झिलमिलाते किरनों में भीगता
नई आशाओं की छाँव में
नए सपनों का संसार बसाने
बर्फ़ीली रात की अंगड़ाई के साथ
बसंत के आने की उम्मीद लिए
आज सब पीछे छोड़
चला वो अपनाने नए आकाश को
नए सुबह की नई धूप में
नई आशाओं की नई किरन के संग
आज फिर आया है नया साल
पीछे छोड़ जाने को परछाइयाँ
 नये वर्ष का करें सभी हम,
मिलकर सारे ऐसा स्वागत,
भूल सारे वैर भाव हम,
मन में हो प्रीती की चाहत.
नहीं किसी का बुरा करें हम,
सीखें मानवता से रहना,
सच्ची -मीठी वाणी बोलें,
कटुवचन न कभी कहना!
नये -नए संकल्प करें हम
अब है आगे हमको बढ़ना,
भूखे -प्यासे दीन -दुखी की ,
आगे बढ़ कर सेवा करना.
सबके लिए हो मंगलमय इस,
नए वर्ष का इक -इक पल,
भविष्य स्वर्णिम और सुखद हो,
सबके लिए हो उज्जवल कल.
 नव वर्ष की नव सुबह
मैं ये इज़हार करता हूँ
मैं आज भी सिर्फ
तुमसे से ही प्यार करता हूँ
है साल नया है नयी उमंग
दिल पर छाया है सिर्फ तुम्हारा रंग
चाहे बीतें युग या गुज़रें महीने और साल
बदलेगा ना मेरे इस दिल का हाल
ये धड़केगा तुम्हारे लिये
ये तड़पेगा तुम्हारे लिये
ये वादा मैं तुमसे
आज अभी करता हूँ
नव वर्ष की नव सुबह मैं
ये ऐतबार करता हूँ
तुम भी ये मुझे बतलाओगी कि
मैं सिर्फ तुमसे प्यार करती हूँ
 कुछ नया होता है..
कुछ पुराना पीछे रह जाता है;
कुछ ख्वाईशैं दिल मैं रह जाती हैं..
कुछ बिन मांगे मिल जाती हैं;
कुछ छौड कर चले गये..
कुछ नये जुड़ेंगे इस सफर मैं ..
कुछ मुझसे खफा हैं..
कुछ मुझसे बहुत खुश हैं..
कुछ मुझे भूल गये…
कुछ मुझे याद करते है…
कुछ शायद अनजान है…
कुछ बहुत परेशान है…
कुछ को मेरा इंतज़ार है…
कुछ का मुझे इंतज़ार है…
कुछ सही है….
कुछ गलत भी है….
कोई गलती तो माफ़ कीजिये….
और कुछ अच्छा लगे तो याद कीजिये

है एक रंग नया सा, रूप नया सा
दिल में है आज एहसास नया सा

नयी चाहते हैं और नयी उमंगें
मन में है एक ख्वाब नया सा

नयी है साल, नया हैं दिन
रखो अंदाज़ ऐसे जीने का प्यारा सा

नया साल मुबारक हो

 हम आपके दिल में रहते हैं,
सारे दर्द आपके सहते हैं,
कोई हम से पहले विश न कर दे आपको,
इस लिए सबसे पहले हैप्पी न्यू ईयर कहते हैं.
हैप्पी न्यू ईयर…
फूल खिलेंगे गुलशन में खूबसूरती नज़र आएगी,
बीते साल की खट्टी मीठी यादें संग रह जाएगी,
आओ मिलकर जशन मनाएं नए साल का हँसी ख़ुशी से,
नए साल की पहली सुबह ख़ुशियाँ अनगिनत लाएगी।
हैप्पी न्यू इयर…

Hindi Happy New Year Shayari 

सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार;
आने वाला हर दिन लाए खुशियों का त्यौहार,
इस उम्मीद के साथ आओ भूलके सारे गम,
न्यू इयर 2015 को हम सब करें वेलकम।

हैप्पी न्यू इयर..

 
पुराना साल सबसे हो रहा है दूर,
क्या करें यही है कुदरत का दस्तूर,
पुरानी यादें सोच कर उदास ना हो तुम,
नया साल आया है चलो,
धूम मचा ले धूम मचा ले धूम।

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं…

इस रिश्ते को यूँ ही बनाये रखना,
दिल में यादों के चिराग जलाये रखना,
बहुत प्यारा सफर रहा 2015 का…
बस ऐसा ही साथ 2016 में भी बनाये रखना।

नव वर्ष की शुभ कामनाएं.

ये फूल ये खुशबू ये बहार !
तुमको मिले ये सब उपहार !!
आसमा के चाँद और सितारे !
इन सब से तुम करो सृंगार !!
तुम खुश रहों आवाद रहों……
खुशियों का हो ऐसी फुहार !
हमारी ऐसी दुआ हैं हजार !!
दामन तुम्हारा छोटा पर जाए !

जीवन में मिले तुम्हे इतना प्यार !!

मंजिले आसान सारे मुस्किले वे नूर हो !
दिल की जो हो तम्मना वो हमेशा दूर हो !!
लब पे लब की बात हो, खुशियों में सिमटी जिन्दगी !
गम भरी पारछाइया आँचल से लाखो दूर हो
हस गुजरेगा साल नया हमें एतवार हैं !
बसे परदेश तो क्या, नहीं कम प्यार हैं !!
ख्वाबे मत देखना, आवाज़ रहता जिगर ख़याल हैं !

मिलेगी इजाजत जानेमन लौट पहनाना बाँहे हार हैं

मुबारक हो तुम्हे नववर्ष का महिना !
चमको तुम जैसे फागुन का महिना !!
पतझर न आये तेरी जिन्दगी में !

यही हैं दोस्त अपनी तम्मना

 आपकी दोस्ती हमें इस क़दर प्यारी है,
जिस तरह बिन पानी के मछली बेचारी है।
अब न और कुछ ख़्वाहिश है,
बस आप हर साल हमसे जुड़े रहे, यही आपसे गुज़ारिश है।
 कोई दूर हो जाता हैं मुझसे तो कोई बिछड़ जाता हैं
दर्द को आघोश में लिए ही मेरा हर साल आता हैं|

नव वर्ष
हर्ष नव
जीवन उत्कर्ष नव

नव उमंग
नव तरंग
जीवन का नव प्रसंग

नवल चाह
नवल राह
जीवन का नव प्रवाह

गीत नवल
प्रीति नवल
जीवन की रीति नवल
जीवन की नीति नवल
जीवन की जीत नवल

– हरिवंश राय बच्चन

आरंभ का अंत हो जाना नया साल है!
गिनती का नंबर बदल जाना नया साल है !
वर्तमान का इतिहास बन जाना नया साल है !
उदये होते हुये सूरज का ढल जाना नया साल है !
खिल के फूल का डाल से उतर जाना नया साल है !
दे के जनम मां का आंचल ममता से भर जाना नया साल है !
एक दर्द भूल कर सुख को पेहचान जाना नया साल है !

नये साल की हार्दिक शुभकामनायें

Small Nav Varsh Poem in Hindi

 नए वर्ष में नई पहल हो।
कठिन ज़िंदगी और सरल हो।।
अनसुलझी जो रही पहेली।
अब शायद उसका भी हल हो।।
जो चलता है वक्त देखकर।
आगे जाकर वही सफल हो।।
नए वर्ष का उगता सूरज।
सबके लिए सुनहरा पल हो।।
समय हमारा साथ सदा दे।
कुछ ऐसी आगे हलचल हो।।
सुख के चौक पुरें हर द्वारे।
सुखमय आँगन का हर पल हो।।

सुनहरे सपनों की झंकार, लाया है नववर्ष
खुशियों के अनमोल उपहार लाया है नववर्ष

आपकी राहों में फूलों को बिखराकर लाया है नववर्ष
महकी हुई बहारों की ख़ुशबू लाया है नववर्ष

अपने साथ नयेपन का तूफान लाया है नववर्ष
स्नेह और आत्मीयता से आया है नववर्ष

सबके दिलों पर छाया है नववर्ष
आपको मुबारक हो दिल की गराईयों से नववर्ष।

गुज़रो न बस क़रीब से ख़याल की तरह
आ जाओ ज़िंदगी में नए साल की तरह

कब तक तने रहोगे यूँ ही पेड़ की तरह
झुक कर गले मिलो कभी तो डाल की तरह

आँसू छलक पड़ें न फिर किसी की बात पर
लग जाओ मेरी आँख से रूमाल की तरह

ग़म ने निभाया जैसे आप भी निभाइए
मत साथ छोड़ जाओ अच्छे हाल की तरह

बैठो भी अब ज़हन में सीधी बात की तरह
उठते हो बार-बार क्यों सवाल की तरह

अचरज करूँ ‘किरण’ मैं जिसको देख उम्र-भर
हो जाओ ज़िंदगी में उस कमाल की तरह

 ख़ुद को भूलने की हद तक
नशे में डूबे लोगों ने
स्वागत किया
नए साल का !
बेलग़ाम ज़िन्दगी को
और भूलते हुए
याद रहा तो बस
आख़िरी रात का
वह आख़िरी पल
जिसके बाद
सिर्फ ‘कलेण्डर’ नया हुआ
और ख़ुमार उतरने के बाद
सबों की ज़िन्दगी
वही रही
जिसको भूल जाने के लिए
उन्होंने किए थे
सारे यत्न !
नए साल में
काश …. हो पाती
नई बात !
 नव वर्ष की नव सुबह
मैं ये इज़हार करता हूँ
मैं आज भी सिर्फ
तुमसे से ही प्यार करता हूँ
है साल नया है नयी उमंग
दिल पर छाया है सिर्फ तुम्हारा रंग
चाहे बीतें युग या गुज़रें महीने और साल
बदलेगा ना मेरे इस दिल का हाल
ये धड़केगा तुम्हारे लिये
ये तड़पेगा तुम्हारे लिये
ये वादा मैं तुमसे
आज अभी करता हूँ
नव वर्ष की नव सुबह मैं
ये ऐतबार करता हूँ
तुम भी ये मुझे बतलाओगी कि
मैं सिर्फ तुमसे प्यार करती हूँ
 Ae naye saal, tum jub bhi aana
Sab k liye bas khushian lana
Har chehrey per hansi sajana
Har aagan mein phool khilana
Jo bichhrey hain unhian milana
Jo rotey hain unhian hansana
Jo sotay hain unhian jagana
Jo roothey hain unhian manana
Ae naye saal tum jub bhi aana
Sab ke liye behut sari khushiyan lana

Hindi New Year Motivational Poem

Zindagi ho jaye suhani, naye saal mein
Baat ho dil ki zubaani, naye saal mein
Har din haseen aur, raate roshan ho
Kushiyo ki ho rawani, naye saal mein
Har kisi ke dil mein ho, sabke liye pyar
Puri ho adhuri kahani, naye saal mein
Karte hai hum ye dua, sir ko jhukakar
Mile garib ko roti aur paani, naye saal me
Purana saal ho raha hai, sabse door
Khatm ho nafrato ki kahani, naye saal me

Naya Saal 2019 Mubaraq

आपकी आँखों में सजे हैं जो भी सपने,

और दिल में छुपी हैं जो भी अभिलाषाए,

यह नया वर्ष उन्हें सच कर जाए,

आपके लिए यही है हमारी शुभकामनाए.

“नया साल मुबारक|

पूरे हो आपके सारे Aim, सदा बढ़ती रहे आप की फेम,

मिलता रहे सबसे प्यार और दोस्ती,

और मिले A lot of fun और मस्ती,

सब लोग आप को ही माने अपना dear,

आप की हर राह हो Always clear,

ऐसे ही कट जाये जिन्दगी without any risk,

इस उम्मीद के साथ wish you a very happy new year.

इससे पहले की इस साल को अस्त हो, और कैलेंडर नष्ट हो,

आप खुशी में मस्त हो, मोबाइल का नेटवर्क व्यस्त हो,

दुआ है के नया साल आपके लिये जबरदस्त हो!

नव वर्ष की पावन बेला में, है यही सुभ संदेश;

हर दिन आये आप के जीवन में, लेकर खुशिया विशेष!

 नए वर्ष में नई पहल हो।
कठिन ज़िंदगी और सरल हो।।
अनसुलझी जो रही पहेली।
अब शायद उसका भी हल हो।।
 जो चलता है वक्त देखकर।
आगे जाकर वही सफल हो।।
नए वर्ष का उगता सूरज।
सबके लिए सुनहरा पल हो।।
 समय हमारा साथ सदा दे।
कुछ ऐसी आगे हलचल हो।।
सुख के चौक पुरें हर द्वारे।
सुखमय आँगन का हर पल हो।

नया साल क्या लाएगा.. नया साल भी सताएगा

ख्वाब दिखायेगा, कदम बहकायेगा
ठोकरे देकर संभालना सिखाएगा

 स्वागत है नव वर्ष तुम्हारा,
अभिनंदन नववर्ष तुम्हारा,
 हर मन को दो तुम नई आशा
बोलें लोग प्रेम की भाषा,

Naye Saal Ki Poetry

आरंभ का अंत हो जाना नया साल है!
गिनती का नंबर बदल जाना नया साल है !
वर्तमान का इतिहास बन जाना नया साल है !
उदये होते हुये सूरज का ढल जाना नया साल है !
खिल के फूल का डाल से उतर जाना नया साल है !
दे के जनम मां का आंचल ममता से भर जाना नया साल है !
एक दर्द भूल कर सुख को पेहचान जाना नया साल है !

नये साल की हार्दिक शुभकामनायें

 नए वर्ष में नई पहल हो।
कठिन ज़िंदगी और सरल हो।।
अनसुलझी जो रही पहेली।
अब शायद उसका भी हल हो।।
जो चलता है वक्त देखकर।
आगे जाकर वही सफल हो।।
नए वर्ष का उगता सूरज।
सबके लिए सुनहरा पल हो।।
समय हमारा साथ सदा दे।
कुछ ऐसी आगे हलचल हो।।
सुख के चौक पुरें हर द्वारे।
सुखमय आँगन का हर पल हो।।
 वो कल भी भूखा सोया था फुटपाथ में
अचानक खूब पटाखे चले रात में
झूमते चिल्लाते नाचते लोगों को देखा तो हर्षाया
पास बैठी ठिठुरती मां के पास आया
बता न माई क्या हुआ है क्या बात है
मां बोली बेटा आज साल की आखरी रात है
कल नया साल आएगा
बेटा बोला मां क्या होता है नया साल
अरे सो जा मेरे लाल
मैं भीख मांगती हूँ तू हर रोज़ रोता है
साल क्या हम जैसों की ज़िन्दगी में कुछ भी नया नहीं होता है

New Year Life Poem in Hindi

 ख़ुद को भूलने की हद तक
नशे में डूबे लोगों ने
स्वागत किया
नए साल का !
बेलग़ाम ज़िन्दगी को
और भूलते हुए
याद रहा तो बस
आख़िरी रात का
वह आख़िरी पल
जिसके बाद
सिर्फ ‘कलेण्डर’ नया हुआ
और ख़ुमार उतरने के बाद
सबों की ज़िन्दगी
वही रही
जिसको भूल जाने के लिए
उन्होंने किए थे
सारे यत्न !
नए साल में
काश …. हो पाती
नई बात !

 Happy New Year Love Poem in Hindi

 नव वर्ष की नव सुबह
मैं ये इज़हार करता हूँ
मैं आज भी सिर्फ
तुमसे से ही प्यार करता हूँ
है साल नया है नयी उमंग
दिल पर छाया है सिर्फ तुम्हारा रंग
चाहे बीतें युग या गुज़रें महीने और साल
बदलेगा ना मेरे इस दिल का हाल
ये धड़केगा तुम्हारे लिये
ये तड़पेगा तुम्हारे लिये
ये वादा मैं तुमसे
आज अभी करता हूँ
नव वर्ष की नव सुबह मैं
ये ऐतबार करता हूँ
तुम भी ये मुझे बतलाओगी कि
मैं सिर्फ तुमसे प्यार करती हूँ
 Ae naye saal, tum jub bhi aana
Sab k liye bas khushian lana
Har chehrey per hansi sajana
Har aagan mein phool khilana
Jo bichhrey hain unhian milana
Jo rotey hain unhian hansana
Jo sotay hain unhian jagana
Jo roothey hain unhian manana
Ae naye saal tum jub bhi aana
Sab ke liye behut sari khushiyan lana
 जाने क्यूँ तुम्हें सब कह रहे अलविदा पर
तुम तो सत्रह से अठरह की हो रही हो..!!
पहले थी कमसिन और हसीन अब
बालिग और जवां हो रही हो..!!
जानती हो हैं सब तेरे पीछे आगे
भी साथ तेरे आयेंगे जाने क्यूँ नये
साल का तुम नाहक भ्रम फैला र
 कितना अजीब है यह कार्ड कि बोलता नहीं-‘सब खैरियत है’
न केवल पेड़-पौधे
न केवल अरब सागर
गायब है धरती, अंतरिक्ष गायब
भाग रहे हैं तमाम पखेरू नये ठिकानों की फिक्र में
कोई ऐसी जगह नहीं
कि चिलकती हो माकूल जगह
सिर्फ गर्द है, धुआँ है, आग है और
और असंख्य छायाएँ छोड़तीं ठिकाने
वर्दियों से अटा कितना अजीब है यह कार्ड
कि बोलता नहीं-‘सब खैरियत है’
 नया वर्ष
चकनाचूर होता हिमखण्ड हो
धरती पर जीवन अनन्त हो
रक्तस्नात भीषण दिनों के बाद
हर कोंपल, हर कली पर छाया वसन्त हो

आपकी आँखों में सजे हैं जो भी सपने,

और दिल में छुपी हैं जो भी अभिलाषाए,

यह नया वर्ष उन्हें सच कर जाए,

आपके लिए यही है हमारी शुभकामनाए.

“नया साल मुबारक|

पूरे हो आपके सारे Aim, सदा बढ़ती रहे आप की फेम,

मिलता रहे सबसे प्यार और दोस्ती,

और मिले A lot of fun और मस्ती,

सब लोग आप को ही माने अपना dear,

आप की हर राह हो Always clear,

ऐसे ही कट जाये जिन्दगी without any risk,

इस उम्मीद के साथ wish you a very happy new year.

इससे पहले की इस साल को अस्त हो, और कैलेंडर नष्ट हो,

आप खुशी में मस्त हो, मोबाइल का नेटवर्क व्यस्त हो,

दुआ है के नया साल आपके लिये जबरदस्त हो!

नव वर्ष की पावन बेला में, है यही सुभ संदेश;

हर दिन आये आप के जीवन में, लेकर खुशिया विशेष!

 सोई रहो बर्फ़ में
ओ, कमज़ोर नदियों
बीते मौसम घूँट-घूँट पिया है
तुम्हें बदले में कुछ भी नहीं दिया है
तैरती है हमारी देहों में तुम्हारी ही नमी
तुम्हारी ही लहरें मचलती हैं
हमारे पाँवों में
सूरज उतर आया है आधी ढलान तक
आज हम पहाड़ लाँघेंगे उस पार की धूप तापेंगे!
 हुई बहुत दिन खेल मिचौनी,
बात यही थी निश्चित होनी,
आओ, सदा दुखी रहने का जीवन में आदर्श बना लें!
आओ, नूतन वर्ष मना लें!
 चलो,
पूरी रात प्रतीक्षा के बाद
फिर एक नई सुबह होगी
होगी न,
नई सुबह?
जब आदमियत नंगी नहीं होगी
नहीं सजेंगीं हथियारों की मंडिया
नहीं खोदी जायेगीं नई कब्रें
नहीं जलेंगीं नई चिताएँ
आदिम सोच, आदिम विचारों से
मिलेगी निजात
होगी न,
नई सुबह?
सब कुछ भूल कर
हम खड़े हैं
हथेलियों में सजाये
फूलों का बगीचा,
पूरी रात जाग कर
फिर एक नई सुबह के लिए
होगी न
नई सुबह?
 जेठ की धूप में तपी हुई
आषाढ़ की फुहारों में भीगकर
कार्तिक और अगहन के फूलों को पार करती हुई
यह घूमती हुई पृथ्‍वी
आज सामने आ गयी है
नये साल की देहरी के
 न जाने कितने लोगों का भय रेंग रहा है इस पर
न जाने कितने नगरों-गावों का रक्‍त
बह रहा है अभी भी
न जाने कितनी चीखों से
दहल गयी है यह पृथ्‍वी
 दुनिया से आतंक मिटाएँ
सभी शांति के दीप जलाएँ
आतंक जग में जो फैलाते
उनको कहीं न मिले सहारा
स्वागत है नव वर्ष तुम्हारा

आशा करता हूँ की आपको Happy New Year Poem in Hindi का ये पोस्ट अच्छा लगा होगा। दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो जरूर शेयर करे। और हमे कमेंट करके जरूर बताये।

About the author

Dilshad Saifi

Hey, My Name is Dilshad Saifi by Procession i'm a Pharmacist and Blogger by Choice. I write about Health, Fitness, Internet and Tech.

Leave a Comment